गुरुवार, नवंबर 06, 2008


कांगड़ा घाटी, धर्मशाला में धौलाधार की गोद में इंद्रू नाग का मंदिर, कुछ कल्‍पना कुछ यथार्थ.

1 टिप्पणी:

AJAY ने कहा…

sundar ......yeh locale mera dekha hua sa jaan parta hai. asikni me aap k sketches ka swagat hai.....